उत्तराखंड की उत्तरकाशी सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को सफलता पूर्वक बाहर निकल गया

dailypress24
4 Min Read

उत्तराखंड की उत्तरकाशी सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को सफलता पूर्वक बाहर निकल गया

 

Uttarakhand:  उत्तराखंड की उत्तरकाशी सुरंग (Uttarkashi tunnel) में फंसे 41 मजदूरों को सफलता पूर्वक बाहर निकल गया | उत्तराखंड सरकार ने सभी मजदूरों के लिए एक बहुत बड़ी घोषणा की है । सीएम ने कॉन्फ्रेंस में बताया कि उत्तराखंड सरकार सभी 41 फंसे हुए मजदूरों को एक लाख रुपए की राहत राशि प्रदान करेगी ।आप सभी की जानकारी के लिए बता दें कि उत्तराखंड के उत्तरकाशी इस सिल्कयार टनल के अंदर बस 41 मजदूरों को सही सलामत बाहर निकाल दिया गया है। और वही इस ऑपरेशन को सफल बनाने के बाद कम धामी ने कुछ बड़े ऐलान किए हैं।

वही धामी सरकार ने सभी 41 फंसे मजदूरों के लिए एक-एक लाख रुपए की राहत राशि मजदूरों को देने की घोषणा की है और वही सरकार सभी मजदूर के लिए कंपनी से अपील कर रही है की इन मजदूरों को एक-एक महीने की सैलरी बिना काम के किया दी जाए और एक महीने से 15 दिन की छुट्टी दी जाए और वही मुख्यमंत्री धामी ने बताया कि अब टनल के मुहाने पर ही बाबा बैखनाथ का मंदिर बनाया।

आईए जानते हैं क्या और बड़े ऐलान किए हैं मुख्यमंत्री धामी ने।

और वही साथ में मुख्यमंत्री धामी ने ऐलान किया है कि राज्य में जितनी भी टर्नल में निर्माण कार्य लगा हुआ है उनका अच्छे से उनकी जांच पड़ताल की जाएगी । हालांकि आप सभी को बता दें कि यह आदेश केंद्र सरकार और केंद्र सड़क परिवहन मंत्रालय ने पहले ही जारी कर दिया गया था लेकिन राज्य सरकार भी इन सभी टनलों की एक बार अपने हिसाब से समीक्षा करावेगी जिससे आगे कभी ऐसी आपदा का सामना न करना पड़े।

आपको बता दें कि उत्तराखंड सिल्कयार सुरंग में फंसे हुए 16 दिन से 41 मजदूर को मंगलवार को सकुशल बाहर निकाल लिया गया । अधिकारियों द्वारा बताया गया कि सभी मजदूरों को एक-एक कर 8 एमएम के उन पाइपों से बाहर निकल गया । सुरंग दरवाजे पर गिरी हुई मलबे को काटकर यह पाइप डालकर एक रास्ता बनाया गया था जिसके द्वारा ही सभी मजदूरों को बाहर निकल गया।

चलिए जानते हैं सुरंग के बारे में।

चार धाम यात्रा के लिए बना रही 4: 50 किलोमीटर की उत्तराखंड सिल्कयार सुरंग मैं 12 नवंबर को सुरंग का मालवा नीचे गिर जाने के कारण उसे सुरंग के अंदर 41 काम कर रहे हैं । मजदूर उसे सुरंग के ही अंदर फस गए थे जिसके बाद इसमें बचाव अभियान चलाया गया और बचाव अभियान चलने वाले सभी बचाव कर्मियों को उन 41 मजदूरों को बचाने के में 17 दिनों में सफलता हासिल हुई इन मजदूरों को बचाने के दौरान कम पुष्कर सिंह धामी और वहीं सड़क परिवहन मंत्री बीके सिंह मौजूद रहे।

41 मजदूरों को बचाने के बाद सभी मजदूरों को सुरंग से 30 किलोमीटर दूर एक अस्पताल में एंबुलेंस के माध्यम से पहुंचाया गया कम धामी ने बचाव अभियान पूरा होने के बाद अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि अब पहाड़ी क्षेत्र में श्रमिकों के परिवार वालों की दिवाली दिवाली के 10 दिन बाद मनाई जाएगी उन्होने इस अभियान को सफल होने का श्रेय बचाव कर्मियों को दिया ।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *