Google Gemini AI: आ गया गूगल का सबसे स्मार्ट पावरफुल AI, Chat GPT से पावरफुल

dailypress24
4 Min Read

आज की जा बढ़ती टेक्नोलॉजी के चलते बड़ी-बड़ी एजेंसी और कंपनियां अपना-अपना खुद का AI लॉन्च कर रही है। माइक्रोसॉफ्ट ,टेस्ला से लेकर गूगल ने अपने AI को लॉन्च किया। वहीं आज गूगल ने अपने एक और नए AI Google Gemini AI का लॉन्च किया है। गूगल इस Gemini AI के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के एक नए फ्यूचर की शुरुआत कर रहा है। गूगल ने इस वजन का नाम जैमिनी 1.0 रखा है।

गूगल द्वारा लांच किया गया यह Gemini AI – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस , Open AI Chat GPT वर्जन 4 को पूरी तरीके से टक्कर देने के लिए काबिल है। कंपनी द्वारा यह भी दावा किया जा रहा है कि यह AI बिल्कुल इंसानों की तरह सोच सकेगा।

Gemini AI के 3 वर्जन हुए लॉन्च

गूगल द्वारा लांच किए गए Gemini AI के अभी हाल ही में तीन वर्जन लॉन्च किए गए हैं। जिसमें अल्ट्रा प्रो और नैनो है। इन तीनों वर्जन का इस्तेमाल अलग-अलग तरीके और मकसद से किया जाएगा। हम जमीनी पर तरह-तरह की लैंग्वेज से बात और काम करा सकेंगे।

Gemini AI अल्ट्रा सबसे ज्यादा पॉवरफुल टूल होगा जिसमें काफी हाइट तरीके की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग किया गया है। जिसका इस्तेमाल बड़े-बड़े डाटा सेंटर या एजेंसी में होगा। वहीं छोटे डाटा सेंटर्स या बिजनेस में Gemini AI Pro का इस्तेमाल किया जा सकता है।

एंड्रॉयड यूजर्स के लिए Gemini version Nano का आविष्कार किया गया है। वहीं सूत्रों की माने तो अब हम जैमिनी नैनो का इस्तेमाल ऑफलाइन रहकर भी कर सकेंगे । जानकारी के लिए बता दे कि अब आप अपने व्हाट्सएप पर इस यही टूल को ऑटोमेटिक रिप्लाई करने में भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने दी जानकारी

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ट्वीट करके गूगल के इस नए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल की जानकारी देते हैं। गूगल के सीईओ कहते हैं कि जैमिनी भी एक तरह के गूगल के सबसे बड़े इंजीनियरिंग और साइंस का एक प्रोडक्ट है।

वह कहते हैं कि तकरीबन पिछले 8 वर्ष से लगातार गूगल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम कर रहा है और फाइनली बहुत सारी प्रिडिक्शंस और सुधार करने के बाद अपने नए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल को लांच किया है। जिसको Gemini AI नाम दिया गया है। Google Gemini AI एक हाई क्लास आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और large language model पर वर्क करने वाला सॉफ्टवेयर है।

इंसानों की तरह सोचेगा नया Gemini AI

Gemini AI के लॉन्च के बाद गूगल Deep Mind के CEO Demis Hassabis ऐसा कहते हैं, कि यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की दुनिया में एक बहुत बड़ा कदम है। जैमिनी AI लार्ज लैंग्वेज मॉडल पर काम करता है।

गूगल Deep Mind सीईओ की माने तो उन्होंने पोस्ट करते हुए कहा कि Gemini AI मल्टीटास्किंग कर सकता है। यह इंसानों से भी कहीं ज्यादा बेहतर सोच सकता है। उन्होंने कहा कि गूगल जैमिनी का अल्ट्रा वर्जन एक ऐसा मॉडल है जो की 90% तक एकदम सही जवाब देगा ।

MMLU मॉडल पर आधारित

Gemini AI, मैसिव मल्टीटास्क लैंग्वेज अंडरस्टैंडिंग मॉडल ( Massive Multi task Language Understanding Model) भी कहा जा रहा है । जो की डिफरेंट डिफरेंट तरह की लैंग्वेज में इंसानों से और ज्यादा बेहतर सोच सकेगा।

MMLU एक तरह का हिस्ट्री, साइंस, फिजिक्स, एथिक्स, मैथ्स जैसे 57 सब्जेक्ट का एक तरह का स्ट्रांग कंबीनेशन होता है । जिससे कि दुनिया की सबसे बड़ी-बड़ी और कॉम्प्लेक्स प्रॉब्लम को काफी आसानी से सॉल्व किया जा सकता है।

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *