Diabetes Diet: क्या डायबिटीज के मरीजों को गाजर (Carrot) नहीं खाना चाहिए ?

dailypress24
6 Min Read

Diabetes Diet: मधुमेह वाले लोगों को मीठा खाना नहीं खाना चाहिये। सर्दियों में गाजर लोग खूब पसंद से खाते है, लेकिन क्या मधुमेह वाले लोगों के लिए इसे खाना सुरक्षित है? इसका उत्तर यहां जानें।

Diabetes Diet

गाजर एक प्रकार की सब्जी है जिसका स्वाद मीठा होता है। इसमें फाइबर भी होता है, जो आपके शरीर के लिए अच्छा होता है। उनमें कोलेस्ट्रॉल और वसा जैसी चीजें नहीं होती हैं। इनमें बहुत सारे विटामिन और खनिज भी होते हैं जिनकी आपके शरीर को आवश्यकता होती है। और भले ही मधुमेह वाले कुछ लोगों को गाजर न खाने के लिए कहा जाता है, फिर भी यह उनके लिए अच्छा हो सकता है।

ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है

भले ही गाजर मीठी होती है, लेकिन वास्तव में यह हमारे ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद कर सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इनमें बहुत अधिक मात्रा में शुगर और कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो हमारे ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकते हैं। जब हम कच्ची गाजर खाते हैं, तो उसका जीआई 16 होता है और उबली हुई गाजर खाने की तुलना में हमारे ब्लड शुगर का जीआई (glycaemic index ) 32 से 49 होता है जिससे उनका प्रभाव कम होता है।

आंखों की रोशनी को बढ़ाता है

गाजर में ज़ेक्सैन्थिन और ल्यूटिन जैसे विशेष तत्व होते हैं, जो हमारी आँखों के लिए अच्छे होते हैं। इनमें बीटा-कैरोटीन नामक कुछ पदार्थ भी होता है, जो हमें बेहतर देखने में मदद करता है। मधुमेह से पीड़ित लोगों को अक्सर आंखों में परेशानी होती है, लेकिन गाजर खाने से उन्हें राहत मिल सकती है। गाजर में विटामिन ए भी होता है, जो हमें अंधा होने से बचाती है। तो गाजर खाना वास्तव में हमारी आँखों के लिए अच्छा है।

ये भी पढ़े : क्यों ज़रूरी है मानसिक स्वास्थ्य ? आये समझे कैसे रखे मस्तिष्क को स्वस्थ ?

ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है

गाजर में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है। ब्लड शुगर लेवल को स्वस्थ बनाए रखना महत्वपूर्ण है। गाजर में एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व भी होते हैं, जो मधुमेह के रोगियों के लिए आवश्यक हैं। गाजर में ग्लाइसेमिक इंडेक्स (glycaemic index) कम होता है, इसलिए मधुमेह के रोगियों के लिए गाजर खाना अच्छा होता है।

गाजर में उपलब्ध पोषक तत्व

गाजर में कैरोटीनॉयड, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ए, फाइबर आदि होते हैं, जो मधुमेह के रोगियों के लिए स्वास्थ्यवर्धक होते हैं। गाजर कैरोटीनॉयड (carotenoids) का मुख्य स्रोत है। कैरोटीनॉयड एक प्रकार का पिग्मेंट (pigment) है। आंखों में मौजूद पिगमेंट में कैरोटीनॉयड भी होता है और इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट आंखों की रेटिना को नुकसान से बचाते हैं। रिसर्च से पता चलता है कि कैरोटीनॉयड डायबिटिक रेटिनोपैथी को रोकता है। डायबिटीज होने पर आंखों से जुड़ी समस्याओं का रिस्क बढ़ जाता है। ऐसे में मधुमेह रोगियों के लिए गाजर का सेवन स्वास्थ्यवर्धक होता है।

कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates)

ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने के लिए डायबिटीज का सही तरीके से इलाज करना महत्वपूर्ण है। ऐसे में अगर आप कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें तो शुगर लेवल को नियंत्रित किया जा सकता है। एक मध्यम आकार की गाजर में लगभग 5.84 ग्राम कार्बोहाइड्रेट (carbohydrates) होता है। आहार (diet) में पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट शामिल करने से न केवल शुगर का स्तर बना रहता है, बल्कि यह आपको मधुमेह से होने वाली बीमारियों जैसे हृदय रोग, किडनी रोग, दृष्टि हानि, स्ट्रोक आदि से भी बचाता है।

विटामिन ए (Vitamin A)

अन्य चीजों के अलावा, मधुमेह वाले लोगों को ऐसे खाद्य पदार्थ खाने चाहिए जिनमें विटामिन ए और फाइबर हो। जर्नल डायबिटीज मैनेजमेंट में प्रकाशित एक लेख में बताया गया है कि आहार में थोड़ी मात्रा में विटामिन ए शामिल करने से मधुमेह का रिस्क काफी बढ़ जाता है। टाइप 1 मधुमेह (diabetes) वाले लोगों को ऐसे खाद्य पदार्थ खाने चाहिये जिनमें बहुत अधिक विटामिन ए हो। गाजर विटामिन ए प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका है।

फाइबर (Fiber)

अधिक फाइबर वाली चीजों का सेवन करने से ब्लड ग्लूकोज लेवल में सुधार होता है। इसके अलावा यह इंसुलिन रेसिस्टेंस (insulin resistance) और इंसुलिन सेंसिटिविटी (insulin sensitivity) को भी बढ़ाता है, जिससे मधुमेह का रिस्क कम हो जाता है। जिन लोगों को मधुमेह है उन्हें प्रतिदिन 20-35 ग्राम फाइबर खाना चाहिए। इसे सब्जियों, फलों और साबुत अनाज जैसे खाद्य पदार्थों से फाइबर प्राप्त कर सकते हैं।100 ग्राम गाजर में करीब 2.8 ग्राम फाइबर होता है।

डायबिटिक्स में कैसे खाये गाजर

मधुमेह से पीड़ित लोग गाजर का सेवन उबालकर, कच्चे सलाद के रूप में, जूस बनाकर या गाजर और नारियल के आटे से बने केक के रूप में कर सकते हैं। इस प्रकार गाजर को मधुमेह वाले लोगों के लिए एक सुरक्षित विकल्प माना जा सकता है जो अपने ब्लड शुगर लेवल को बनाये रखना चाहते हैं।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *